प्राकृतिक गैस एवं नवीकरणीय ऊर्जा

हिन्दी
Image: 

हमारा विश्वास है कि विकास केवल एक पोषक और सक्षमकारी पर्यावरण में ही हो सकता है। हम सकारात्मक पर्यावरणीय परिणामों को बढ़ावा देने के लिए संधारणीय तरीकों और साधनों पर कार्य करते हैं।

प्राकृतिक गैस

सिटी गैस वितरण (सीजीडी)वर्तमान में, एचपीसीएल संयुक्त उद्यम कंपनियों अवंतिका गैस लिमिटेड (एजीएल), भाग्यनगर गैस लिमिटेड (बीजीएल) और गोदावरी गैस प्राइवेट लिमिटेड (जीजीपीएल) के माध्यम से आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और मध्य प्रदेश के 8 भौगोलिक क्षेत्रों (जीए) में सिटी गैस वितरण (सीजीडी) नेटवर्क का संचालन कर रही है। एचपीसीएल अहमदाबाद में स्टैंडअलोन आधार पर एक सीएनजी नेटवर्क भी संचालित कर रही है। सीजीडी व्यवसाय को और विस्तार देने के लिए, एचपीसीएल संयुक्त उद्यम कंपनी एचपीओआईएल गैस प्राइवेट लिमिटेड (एचओजीपीएल) के माध्यम से अम्बाला-कुरुक्षेत्र (हरियाणा) के भौगोलिक क्षेत्रों और कोल्हापुर (महाराष्ट्र) जिले तथा सोनीपत के के भौगोलिक क्षेत्रों (पहले से अधिकृत क्षेत्रों को छोड़कर) और हरियाणा में जिंद जिले में स्टैंडअलोन आधार पर सीजीडी नेटवर्क स्थापित कर रही है।

प्राकृतिक गैस की सोर्सिंग और विपणन की सुविधा के लिए, एचपीसीएल अपनी संयुक्त उद्यम कंपनी, एचपीसीएल शापूरजी एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड (एचएसईपीएल) के माध्यम से गुजरात (गिर सोमनाथ जिला) में छारा बंदरगाह पर 5 एमएमटीपीए एलएनजी रिगैसीफिकेशन टर्मिनल का निर्माण कर रही है।

इसके अलावा, एचपीसीएल अपनी संयुक्त उद्यम कंपनियों जीएसपीएल इंडिया गैसनेट लिमिटेड(जीआईजीएल) तथा जीएसपीएल इंडिया ट्रांसको लिमिटेड (जीआईटीएल) के माध्यम से तीन क्रॉस-कंट्री प्राकृतिक गैस पाइपलाइन (मेहसाना से बठिंडा, बठिंडा से श्रीनगर और मल्लावरम से भीलवाड़ा) का निर्माण भी कर रही है।

2019-20 की प्रमुख गतिविधियां :

  1. जींद - सोनीपत भौगोलिक क्षेत्र में सीएनजी बिक्री की शुरुआत की गई तथा 155 इंच-किमी पाइपलाइन बिछाई गई। नेटवर्क का और अधिक विस्तार प्रगति पर है।
  2. एचपीसीएल की संयुक्त उद्यम कंपनी, जीआईटीएल द्वारा कुंचनापल्ली (आप्र) से रामागुंडम फर्टिलाइजर प्लांट तक 365 किमी क्रॉस कंट्री प्राकृतिक गैस पाइपलाइन कमीशन की गई।
  3. ऑटोमोबाइल सेक्टर में सीएनजी तथा घरेलू पीएनजी की आपूर्ति के लिए पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय से सीजीडी बोली के दौरान 10वें राउंड में 20 जिलों के 9 भौगोलिक क्षेत्रों में तथा 9वें राउंड में 1 भौगोलिक में गैस आवंटन प्राप्त किया।
  4. जींद-सोनीपत भौगोलिक क्षेत्र तथा उत्तर प्रदेश क्लस्टर के तहत अन्य 5 भौगोलिक क्षेत्रों में गैस निकासी के लिए गैस बिक्री संचरण समझौता तथा गैस सुविधा समझौते पर हस्ताक्षर किए गए।
  5. कोल्हापुर, अंबाला-कुरुक्षेत्र, पूर्वी गोदावरी, पश्चिम गोदावरी, हैदराबाद, विजयवाड़ा, काकीनाड़ा, उज्जैन तथा ग्वालियर में एचपीसीएल की 4 संयुक्त उद्यम कंपनियों (एचओजीपीएल, जीजीपीएल, बीजीएल, एजीएल) द्वारा 51 सीएनजी स्टेशनों को शुरू किया गया तथा 1,52,301 घरेलू पीएनजी कनेक्शन जारी किए गए हैं।

संपीडित बायोगैस

परिवहन क्षेत्र में बायोगैस को बढ़ावा देने के लिए, एचपीसीएल भारत सरकार की सतत (सस्टेनेबल अल्टरनेटिव टूवर्ड अफोर्डेबल ट्रांसपोर्टेशन) पहल में सक्रिय रूप से भाग ले रही है तथा एचपीसीएल ने विपणन हेतु ओएमसी के विभिन्न रिटेल आउटलेटों पर सीबीजी की आपूर्ति के लिए संपीड़ित बायोगैस (सीबीजी) संयंत्रों की स्थापना हेतु संभावित निवेशकों और उद्यमियों से एक्सप्रेशन ऑफ इंटरेस्ट (ईओआई) आमंत्रित किए हैं। वर्ष 2019-20 के दौरान, एचपीसीएल ने 152 टन प्रतिदिन की क्षमता के साथ 40 नए सीबीजी संयंत्र स्थापित करने के लिए एलओआई जारी किए, जिसके साथ कुल एलओआई की संख्या 208 टन प्रति दिन की क्षमता के 51 हो गई।

नवीकरणीय ऊर्जा

सौर ऊर्जा : वर्ष 2019-20 के दौरान, विभिन्न स्थानों पर 10 MWp की सौर ऊर्जा क्षमता स्थापित की गई, जिसके साथ कुल सौर ऊर्जा क्षमता 32.5 MWp हो गई।

पवन ऊर्जा: वर्ष 2019-20 में कुल 101 मेगावाट पवन ऊर्जा क्षमता से लगभग 18.6 करोड़ KWh विद्युत उत्पादन किया गया।