प्रतिपुष्टी शिकायतेसंपर्क

संयुक्‍त उपक्रम

हिन्दी
Image: 

पेट्रोलियम उत्पादों के कच्चे तेल की रिफाइनिंग और विपणन करना कॉर्पोरेशन का मुख्य कार्य है। राजस्व तथा दूर-दराज क्षेत्रों में कारोबार बढ़ाने के लिए नए अवसर तलाश किये जा रहै है| तदनुसार, एचपीसीएल ने शोधन, कोलतार पायस, पाइप लाइन, सिटी गैस वितरण (सीजीडी), एलपीजी गुफा, प्राकृतिक गैस पाइपलाइनों, एलएनजी टर्मिनल और जैव ईंधन के लिए सहायक और संयुक्त उद्यम कंपनियों का गठन किया है।

संयुक्त उपक्रम

Logo of HMEL एचपीसीएल-मित्तल एनर्जी लिमिटेड (एचएमईएल)

एचपीसीएल–मित्तल एनर्जी लि. (एचएमईएल), एचपीसीएल तथा मेसर्स मित्तल एनर्जी इनवेस्टमेंट प्राइवेट लि. (MEI) सिंगापुर (मित्तल इनवेस्टमेंट्स S.a.r.l. के पूर्ण स्वामित्व वाली) का एक संयुक्त उद्यम है। 31 मार्च 2017 को एचएमईएल में एचपीसीएल के साथ-साथ एमईआई 48.99% अंशधारक थे। कम्पनी की स्थापना 13 दिसंबर 2000 को हुई थी। कम्पनी की प्राधिकृत शेयर पूंजी 10,000 करोड़ थी। 31 मार्च 2017 को चुकता शेयर पूंजी 8041.10 करोड़ रूपये थी।

एचएमईएल, पंजाब राज्य में बठिंडा में स्थापित 9 मिलियन मीट्रिक टन प्रति वर्ष क्षमता वाली ग्रीनफील्ड रिफाइनरी का परिचालन करती है। रिफाइनरी मुख्य रूप से दो वर्गों में अपने उत्पादों का उत्पादन करती है-

  1. द्रवीकृत उत्पाद जैसे एलपीजी, नेप्था ,एमएस, एचएसडी, एटीएफ इत्यादि तथा
  2. ठोस उत्पाद जैसे पीट कोक, पॉलीप्रोपाइलीन तथा सल्फर

एचएमईएल के पूर्ण स्वामित्व वाली अनुषांगिक कम्पनी एचपीसीएल मित्तल पाइपलाइन लिमिटेड ( एचएमपीएल) है जो मुंद्रा (गुजरात) से बठिंडा (पंजाब) तक कच्चे तेल की 1017 किलोमीटर की पाइपलाइन का परिचालन करती है।

वित्तीय वर्ष 2016-17 में एचएमईएल ने अपना सर्वश्रेष्ठ वित्तीय प्रदर्शन किया था। 2016- 2017 के दौरान एचएमईएल ने 10.52 मिलियन मीट्रिक टन कच्चे तेल का संसाधन कर 117 % की क्षमता उपयोग को हासिल कर लिया था। एचएमईएल ने 42,488 करोड़ का कुल व्यापार तथा कर चुकाने के पश्चात 3,090 करोड़ का शुद्ध लाभ दर्ज किया था।

Logo of HINCOL हिंदुस्तान कोला प्राइवेट लिमिटेड (एचआईएनसीओएल)

एचआईएनसीओएल एचपीसीएल और मेसर्स कोलास एसए, फ्रांस के साथ शुरू किया गया एक संयुक्त उपक्रम है और इसकी स्थापना 17 जुलाई 1995 को हुई थी| हिनकोल की अधिकृत शेयर पूंजी है 30 करोड़ रुपये । एचपीसीएल की हिनकोल में 50% इक्विटी की भागीदारी है। 31मार्च 2017 तक हिनकोल की 9.45 करोड़ रूपए की चुकता पूंजी है|

एचआईएनसीओएल भारत में मूल्य योजित बिट्यूमिनस उत्पाद जैसे कि बिट्यूमिन इमल्शन तथा आशोधित बिट्यूमिन का निर्माण तथा बिक्री करता है। एचआईएनसीओएल भारत में बिट्यूमिन इमल्शन व्यवसाय में बाजार में शीर्ष पर है तथा इसके साथ ही सड़क रखरखाव गतिविधियों जैसे माइक्रो सर्फेसिंग तथा स्लरी सीलिंग का काम भी करता है।

एचआईएनसीओएल, रणनीतिक दृष्टि से स्थित 9 उत्पादन संयंत्रों जो समग्र प्रबंधन प्रणाली ( IMS) द्वारा प्रमाणित है तथा आई एस ओ 9001/14001 तथा ओएचएसएएस 18001 का अनुपालन करते हैं का स्वामित्व तथा परिचालन करता है। एचआईएनसीओएल ने कई स्तरों की सड़क निर्माण कम्पनियों की सेवा में वृदधि के लक्ष्य से की एकाउंट मैनेजमेंट (KAM) प्रक्रिया लागू की है तथा लागत कम करने तथा उत्पादन व सुरक्षा में वृद्धि करने के कई उपाय किये हैं। एचआईएनसीओएल ने कोलास पोर्टफोलियो से पैट्रोलियम आधारित कृत्रिम गोंद बिट्यूक्लेयर पेश किया है जिसका उपयोग रंगीन पेविंग सामग्री के उत्पादन में किया जा सकता है। बिट्यूक्लेयर भारत में पहला रंगहीन बिट्यूमेन विलयन है।

वित्तीय वर्ष 2016-17 में एचआईएनसीओएल ने बिक्री तथा लाभ दोनों ही में रेकार्ड प्रदर्शन किया। एचआईएनसीओएल ने 220 टीएमटी की सर्वाधिक बिक्री दर्ज करते हुए ऐतिहासिक से अधिक 6.7% की वृद्धि हासिल की। बिट्यूमिन इमल्शन व्यवसाय घटक में एचआईएनसीओएल ने 23% की वृद्धि दर्ज की । साइट सेवाओं में एचआईएनसीओएल ने 5.7 लाख वर्ग मीटर माइक्रो सरफेसिंग की। एचआईएनसीओएल नें लखनऊ में बिट्यूक्लेयर का उपयोग करते हुए प्रथम पदचालन/साइकिल ट्रैक (लाल रंग का) का भी निर्माण किया।

2016-17 के दौरान एचआईएनसीओएल ने कुल 772 करोड़ रुपये का कुल राजस्व दर्ज किया। पीबीआईटी ( PBIT) तथा पीएटी (PAT) ने 142 करोड़ तथा 92 करोड़ रुपये दर्ज करते हुए गत वर्ष के सापेक्ष क्रमश : 21 % तथा 22% की वृद्धि हासिल की। प्रति शेयर उपार्जन 97.76 रुपये थे जो 22% ज्यादा है।

एचआईएनसीओएल गत 17 वर्षों से लगातर लाभांश का भुगतान कर रहा है तथा 2016-17 के लिए ₹ 50/ - प्रति शेयर के लाभांश की घोषणा की है। नेतृत्व, नवप्रवर्तन तथा खुलेपन के प्रतीक अत्याधिक गतिशील ,चाक्षुष प्रभाव पैदा करने वाला एक नया लोगो तथा हस्ताक्षर जारी किया गया है । एचआईएनसीओएल का सफर एक शून्य ऋण कम्पनी के रूप में जारी है।

व्यवसाय विविधीकरण के हिस्से के तौर पर, हिनकोल ने AXTER के साथ हाथ मिलाए हैं जो कि COLAS की कंपनी का समूह है तथा जो 50 से अधिक देशों में डिजाइन, विनिर्माण, जलप्रतिरोधी सिस्टम के विपणण के व्यवसाय में संलग्न है। भारत में, इंफ्रास्ट्रक्चर, उद्योग तथा हाउसिंग सेक्टर के क्षेत्र में ये उत्पाद 'HINCOLAXTER' ब्रांड के अंतर्गत विपणित किए जाएंगे।

Logo of SALPG साउथ एशिया एलपीजी कं. प्रा. लि. (एसएएलपीजी)

दक्षिण एशिया एलपीजी कंपनी प्राइवेट लिमिटेड (एसएएलपीजी), मैसर्स के साथ एक संयुक्त उद्यम कंपनी है टोटल होल्डिंग इंडिया (पूर्ववत नाम टोटल गैस और पावर इंडिया), फ्रांस, टोटल की अनुषंगी कंपनी है। एसएएलपीजी के 50% इक्विटी भागीदारी की संयुक्त उपक्रम में साउथ एशिया एलपीजी कंपनी प्राइवेट लिमिटेड की 16 नवंबर, 1999 को स्थापना हुई थी। इसकी अधिकृत शेयर कैपिटल की क़ीमत 100 करोड़ रूपए हैं | एचपीसीएल की एसएएलपीजी के साथ 50% इक्विटी की भागीदारी है| 31 मार्च 2017 की स्थिति के अनुसार, एसएएलपीजी की चुकता पूंजी 100 करोड़ रुपये है।

जो कि अधिकृत दिसंबर 2007 में एसएएलपीजी ने 60 टीएमटी क्षमता के भूमिगत सग्रंह और विशाखापट्नम में डिस्पैच सुविधा की शुरुआत की है| इसकी लागत रू.330.30 करोड़ है | एसएएलपीजी कावेर्न दक्षिण और दक्षिण - पूर्व एशिया में प्रथम स्थान पर है और विश्व के गहरे कावेर्न में इनका स्थान है | जनवरी 2008 में इसके व्यावसायिक संचालन की शुरुआत हुई थी |

वर्ष 2016-17 के दौरान एसएपीएलजी कैवर्न ने गत वर्ष की 1.342 एमएमटी (मिलियन मीट्रिक टन) की तुलना में 1.627 एमएमटी एलपीजी (लिक्विड पेट्रोलियम गैस) प्राप्त कर 21% की वृद्धि हासिल की। एसएपीएलजी मे कुल राजस्व 234.63 करोड़ रु. अर्जित किया तथा 120.21 करोड़ रु. का शुद्ध लाभ दर्ज किया।

एसएपीएलजी गत 7 वर्षों से लगातार लाभाश दे रहा है। वर्ष 2016-17 के लिए एसएपीएल जी बोर्ड ने प्रति शेयर 7.50 रु. के लाभांश की अनुशंसा की है।

Logo of BGL भाग्यनगर गैस लिमिटेड (बीजीएल)

भाग्यनगर गैस लिमिटेड (बीजीएल), आंध्र प्रदेश तथा तेलंगाना राज्यों में शहरी गैस वितरण (CGO) परियोजना लागू करने के लिए गेल के साथ एक संयुक्त उपक्रम कम्पनी के रूप में 22 अगस्त 2003 में निगमित हुई थी।

बीजीएल हैदराबाद (तेलंगाना), विजयवाड़ा और काकीनाडा (आंध्र प्रदेश) में सिटी गैस वितरण नेटवर्क का काम कर रहा है। बीजीएल हैदराबाद, विजयवाड़ा और काकीनाडा के तीन शहरों में 44 सीएनजी स्टेशन और 1 ऑटो एलपीजी स्टेशन तिरुपति (आंध्र प्रदेश) में एक साथ संचालित करता है।

31 मार्च 2017 को बीजीएल 33 डॉटर बूस्टर स्टेशंस, 5 ऑनलाइन स्टेशंस तथा 3 मदर स्टेशंस और तिरुपति में एक आटो एलपीजी स्टेशन सहित 41 सीएनजी स्टेशनों का परिचालन कर रही है।

31 मार्च 2017 तक बीजीएल अपने अधिकृत भौगोलिक क्षेत्रों में 6608 घरों में 52 वाणिज्यिक तथा 5 औद्योगिक उपभोक्ताओं को पीएनजी की आपूर्ति कर रही है। बीजीएल अपने क्षेत्रों में परिचालन कर रहे 39,000 सीएनजी वाहनों की भी ईंधन आवश्यकताओं की पूर्ति कर रही है।

वर्ष 2016-17 के दौरान बीजीएल ने सीएनजी की 28,573 एमटी, पीएनजी की 29.35 लाख एससीएम तथा 210.13 एमटी ऑटों एलपीजी की बिक्री की है। बीजीएल ने कुल 134.82 करोड़ रु. का राजस्व अर्जित किया है तथा वर्ष के दौरान 13.19 करोड़ रु. का शुद्ध लाभ प्राप्त किया है।

Logo of Avantika Gas Ltdअवन्तिका गैस लिमिटेड (एजीएल)

गेल के साथ संयुक्त उद्यम की यह कंपनी 07 जून, 2006 को निगमित की गई थी। और एचपीसीएल को इंदौर, उज्जैन, पीतमपुर तथा ग्वालियर में शहरी गैस वितरण (CGD) परियोजनाओं को लागू करना है।

एजीएल की प्राधिकृत शेयर पूंजी 100 करोड़ रूपये है। 31 मार्च 2017 को एजीएल की कुल चुकता पूंजी 45.03 करोड़ रूपये थी। एजीएल में एचपीसीएल का कुल शेयरधारिता गेल के साथ बराबरी के साझीदार के रूप में 49.97% थी।

31 मार्च 2017 को एजीएल के सीजीडी नेटवर्क में 1371 किलोमीटर मीडियम डेंसिटी पॉलीथीन पाइपलाइन तथा 89 किलोमीटर स्टील पाइपलाइन थी तथा 12,500 घरेलू ग्राहकों को तथा इंदौर, उज्जैन ग्वालियर तथा पीतमपुर के 22 सीएनजी स्टेशनों (4 मदर स्टेशनों, 9 डॉटर स्टेशनों तथा 9 ऑनलाइन स्टेशनों) को आपूर्ति कर रही थी।

2016-17 के दौरान एजीएल ने सीएनजी की 19,221 एमटी तथा पीएनजी की 6,870 एमटी बिक्री कर गत वर्ष के सापेक्ष 11% की वृद्धि हासिल की है। एजीएल ने कुल 132.26 करोड़ का राजस्व तथा 19.08 करोड़ का शुद्ध लाभ अर्जित किया है।

Logo of Petronet MHB ltd. पेट्रोनेट एमएचबी लिमिटेड (पीएमएचबीएल)

पीएमएचबीएल एक संयुक्त उद्यम कंपनी है जिसमें एचपीसीएल की ओएनजीसी के साथ 32.72% की शेयरधारिता है और शेष 34.56 % के शेयर प्रमुख बैंको तथा वित्तीय संस्थानों के पास हैं। पीएमएचबीएल, एमआरपीएल ऱिफाइनरी के उत्पादों को कर्नाटक राज्य के विभिन्न हिस्सों में परिवहन के लिए बहुउत्पाद पैट्रोलियम पाइपलाइन का परिचालन करती है तथा इसकी स्वामी है।

वर्ष 2016-17 के दौरान पीएमएचबीएल ने गत वर्ष के 3.318 एमएमटी की तुलना में सर्वोच्च 3.429 एमएमटी का परिवहन किया। पीएमएचबीएल ने गत वर्ष के 163.67 करोड़ के सापेक्ष 170.20 करोड़ का कुल राजस्व अर्जित किया और 2015-16 के 63.49 करोड़ की तुलना में रिकार्ड 80.95 करोड़ का शुद्ध लाभ दर्ज किया।

पीएमएचबीएल इन्टिग्रेटेड मैनेजमेंट सिस्टम (आईएमएस),क्वालिटी मैनेजमेंट सिस्टम - ISO-9001,एन्वायरमेंटल मैनेजमेंट सिस्टम - ISO-14001 और OHSAS–18001 के लिए M/s.डेट नोर्सके वेरिटैस (डीएनवी) प्रमाणित है | पीएमएचबीएल ने अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुसार पाइपलाइन परिचालनों के लिए विभिन्न अद्यतित तकनीकियों का इस्तेमाल किया है।

Logo of MRPL मैंगलूर रिफाइनरीज़ एण्ड पेट्रोकैमिकल्स लिमिटेड (एमआरपीएल)

मैंगलोर रिफाइनरी तथा पेट्रोकैमिकल्स लि. (MRPL) में एचपीसीएल की शेयरधारिता 16.96% है। एमआरपीएल कर्नाटक राज्य में मैंगलोर में 15 एमएमटीपीए की रिफाइनरी का परिचालन करता है। वर्ष 2016-17 के दौरान एमआरपीएल ने 59,430 करोड़ का कुल समेकित राजस्व प्राप्त किया तथा 3643 करोड़ का शुद्ध लाभ दर्ज किया।

Logo of MAFFL मुंबई विमानन ईंधन फार्म सुविधा प्रा. लिमिटेड (एमएएफएफएफएल)

मुंबई विमानन ईंधन फार्म सुविधा प्रा. लिमिटेड (एमएएफएफएफएल)एक संयुक्त उद्यम कंपनी (जेवीसी) जिसमें शामिल है, मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट प्राइवेट लिमिटेड (एमआईएएल) इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन लिमिटेड (आईओसीएल), भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (बीपीसीएल) और हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड (एचपीसीएल) के साथ प्रत्येकी 25% इक्विटी होल्डिंग है। कंपनी को 26 फरवरी, 2010 को शामिल किया और इसकी अधिकृत पूंजी 300 करोड़ है।

कंपनी का कारोबार संचालित और मौजूदा विमानन ईंधन खेत सुविधाओं को बनाए रखने और छत्रपति शिवाजी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे (सीएसआईए), मुंबई में सेवाओं में विमान प्रदान करने के लिए है। कंपनी, निर्माण को बनाए रखने और एक ओपन एक्सेस आधार पर नए एकीकृत ईंधन फार्म सुविधा संचालित होगा। एमएएफएफएफएल फ्यूएल इंफ्रास्ट्रक्चर चार्जेज़ जिसका भुगतान सुविधा का उपयोग करने के लिए आपूर्तिकर्ता करता है के माध्यम से राजस्व अर्जित करता है।

एमएएफएफएफएल मे अपना परिचालन फरवरी 2015 को प्रारंभ किया था और उसके परिचालन का यह लगातार दूसरा वर्ष है। वर्ष 2015-16 के 15.53 लाख केएल की तुलना में उसने वर्ष 2016-17 में वृद्धि करते हुए 16.55 लाख केएल को नियंत्रित किया।

2015-16 की 115.08 करोड़ की तुलना में 2016-17 में 127.60 करोड़ की कुल आय में वृद्धि हुई है जो 11% की वृद्धि है तथा कर चुकता करने के पश्चात लाभ (पीएटी) 2015-16 के 15.68 करोड़ से बढ़कर 2016-17 में 26.58 करोड़ हो गयी जिसने 43% की वृद्धि दर्ज की है।

वर्ष 2016-17 के दौरान इंटीग्रेटेड फ्यूएल फार्म प्रोजेक्ट की कुल प्रगति लगभग 47% हुई है। इसका मुख्य ध्यान इंटीग्रेटेड फ्यूएल फार्म प्रोजेक्ट के निर्माण पर है तथा वित्तीय वर्ष 2017-18 के अंत तक 70% संचयी सकल संपन्नता प्राप्त कर लेने की आशा है।

Logo of GIGL जीएसपीएल इंडिया गैसनेट लिमिटेड (जीआयजीएल)

जीएसपीएल इंडिया गैसनेट लिमिटेड (GIGL), गुजरात स्टेट पेट्रोनेट लिमिटेड (GSPL) इंडियन ऑयल कारपोरेशन लिमिटेड ( IOCL), भारत पेट्रोलियम कारपोरेशन लिमिटेड (BPCL) तथा एचपीसीएल (HPCL) के मध्य एक सहायता संघ है। एचपीसीएल की कंपनी में 11% शेयरधारिता है तथा शेष शेयरधारिता जीएसपीएल (52%), आईओसीएल (26%) तथा बीपीसीएल (11%) की है। कंपनी 13 अक्टूबर 2011 में निगमित हुई थी।

जीआईजीएल खेतों से आरपार निकलती हुई दो पाइपलाइनें – 1640 किमी. मेहसाना से बठिंडा पाइपलाइन तथा 740 किमी बठिंडा से श्रीनगर पाइपलाइन बिछा रही है। कम्पनी एचपीसीएल को गैस स्त्रोत उपलब्ध कराएगी तथा स्वतंत्र रूप से पाइपलाइन के माध्यम से अपने ग्राहको में विपणन करेगी।

Logo of GITL जीएसपीएल इंडिया ट्रांस्को लिमिटेड (जीआयटीएल)

जीएसपीएल इंडिया ट्रांसको लिमिटेड (GITL) गुजरात स्टेट पेट्रोनेट लिमिटेड (GSPL) इंडियन ऑयल कारपोरेशन लिमिटेड (IOCL), भारत पेट्रोलियम कारपोरेशन लिमिटेड (BPCL) तथा एचपीसीएल (HPCL) के मध्य एक सहायता संघ है। एचपीसीएल की कंपनी में 11% शेयरधारिता है तथा शेष शेयरधारिता जीएसपीएल (52%), आईओसीएल (26%) तथा बीपीसीएल (11%) की है। कंपनी 13 अक्टूबर 2011 में निगमित हुई थी।

जीआईटीएल 1881 किमी पाइपलाइन मल्लावपम से भीलवाड़ा तक बिछा रही है। कम्पनी एचपीसीएल को गैस स्त्रोत उपलब्ध कराएगी तथा स्वतंत्र रूप से पाइपलाइन के माध्यम से अपने ग्राहको में विपणन करेगी।

Logo of HSEPL एचपीसीएल शापूरजी एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड (एचएसईपीएल)

एचपीसीएल शापूरजी एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड (एचएसईपीएल) हिंदुस्तान पेट्रोलियम कारपोरेशन लिंमिटेड तथा एसपी पोर्ट्स प्राइवेट लिमिटेड का एक संयुक्त उद्यम है। एचपीसीएल की एचएसईपीएल में 50% की शेयरधारिता है एसपी पोर्ट्स प्राइवेट लिंमिटेड इसकी बराबर की साझीदार है। 31 मार्च 2017 को एचएसईपीएल की प्राधिकृत शेयर पूंजी 50 करोड़ थी तथा चुकता शेयर पूंजी 26 करोड़ थी।

एचएसईपीएल, गुजरात के गिर सोमनाथ जिले में छारा बंदरगाह में 5 एमएमटीपीए की क्षमता का एलएनजी रिगैसिफिकेशन टर्मिनल का निर्माण तथा परिचालन करेगी। परियोजना की अनुंमानित लागत लगभग 5400 करोड़ है जो ऋण तथा शेयर के माध्यम से जुटाई जाएगी। एलएनजी टर्मिनल की प्रमुख सुविधाओ में एलएनजी जहाजों को गोदी में रुकाने तथा सामान उतारने के लिए समुद्री सुविधाएं, टैक तथा भंडारण सुविधांए, शेल एंड ट्यूब वेपराइजर (एसटीवी) आधारित रिगैसीफिकेशन सुविधा तथा जनोपयोगी सेवाएं जैसे कि बायल ऑफ सिस्टम तथा आपातकालीन जनरेटर शामिल हैं।

एचएसईपीएल ने छारा एलएनजी परियोजना में वित्तीय समापन को प्राप्त कर लिया है। फ्रंट एंड इंजीनियरिंग तथा डिजाइनिंग (FEED) तथा अन्य तकनीकी अध्ययन पूरे हो गये हैं। एचएसईपीएल ने अंतरराष्ट्रीय बोली स्पर्धा के माध्यम से ईपीसी (EPC) अनुबंध को जारी करने की प्रक्रिया की शुरूआत कर दी है।

एचएसईपीएल को छारा टर्मिनल के लिए सीआरज़ेड (CRZ) की अनापत्ति के लिए गोवा कोस्टल ज़ोन मैनेजमेंज अथारिटी (GCZMA) की अनुशंसाएं भी प्राप्त हो गयीं हैं। एचएसईपीएल ने आवश्यक अनापत्तियो/ अनुमोदनों लिए एमओईएफ (MOEF) तथा पेस्को (PESCO) में आवेदन प्रस्तुत कर दिए हैं।

Logo of GGPL गोदावरी गैस प्रा. लिमिटेड (जीजीपीएल)

गोदावरी गैस प्रा. लिमिटेड (जीजीपीएल)हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड (एचपीसीएल) और आंध्र प्रदेश के गैस वितरण निगम लिमिटेड (APGDC)के बीच एक संयुक्त उद्यम है। कंपनी को 27 वें सितंबर 2016 को शामिल किया गया| प्रारंभिक अधिकृत शेयर पूंजी रुपये है 100 करोड़।

आंध्र प्रदेश में पूर्वी गोदावरी और पश्चिमी गोदावरी जिले के सिटी गैस वितरण नेटवर्क स्थापित करने के लिए जीजीपीएल को पीएनजीआरबी द्वारा अधिकृत किया गया है।

Logo of RRPCL रत्नागिरि रिफाइनरी एवं पेट्रोकेमिकल्स लिमिटेड (आरआरपीसीएल)

आरआरपीसीएल, इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन लिमिटेड (IOCL), भारत पेट्रोलियम लिमिटेड (BPCL) और हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (HPCL) का संयुक्त उपक्रम है। IOCL के पास 50% हिस्सा है जबकि HPCL और BPCL के पास 25%-25% हिस्सा है। आरआरपीसीएल को 22 सितंबर 2017 को निगमित किया गया। आरंभिक अधिकृत शेयर पूंजी 400 करोड़ रुपये है।

महाराष्ट्र राज्य में भारत के पश्चिमी समुद्र तट में लगभग 60 एमएमटी पीए क्षमता की एक रिफाइनरी तथा पेट्रकैमिकल काप्लेक्स को स्थापित करने के लिए निगमित हुई थी।

Subsidiary Companies

Logo of Prize Petroleum Company Ltd प्राइज पेट्रोलियम कंपनी लिमिटेड (पीपीसीएल)

प्राइज़ पेट्रोलियम कंपनी लिमिटेड (PPCL) एचपीसीएल के पूर्ण स्वामित्व वाली अनुषांगिकी है। पीपीसीएल, एचपीसीएल की अपस्ट्रीम शाखा है तथा यह हाइड्रोकार्बंस की खोज तथा उत्पादन (E & P) के साथ साथ E & P ब्लाकों के प्रबंधन की सुविधाएं भी उपलब्ध कराती है।

पीपीसीएल प्राइज पेट्रोलियम इंटरनेशनल प्रा.लिमिटेड (पीपीसीएल) एक पूर्ण स्वामित्व वाली अनुषांगिकी है जिसका निगमन सिंगापुर में हुआ था। पीपी आईपी एल ने आस्ट्रेलिया मे दो E & P ब्लाकों (T/L1 lLe T/18 P) में 11.25% तथा 9.75 % के सहभागिता हित हासिल कर लिए हैं।

वर्ष 2016-17 के दौरान पीपीसीएल ने दो घरेलू तेल क्षेत्रों (हीरापुर तथा संगनपुर) से 37068 बैरल कच्चे तेल का कुल उत्पादन किया था। पीपीसीएल ने योल्ला उत्पादन क्षेत्र (T/L10 से 4,29,548 BoE (बैरल्स ऑफ ऑयल इक्विलेंट) के उत्पादन में से अपना हिस्सा प्राप्त किया है। पीपीसीएल ने गत वर्ष के 82.71 करोड़ के राजस्व की तुलना में समेकित आधार पर वर्ष 2016-17 के दौरान राजस्व में वृद्दि करते हुए 86.49 करोड़ प्राप्त किए हैं।

Logo of HBL एचपीसीएल जैव ईंधन लिमिटेड (एचबीएल)

एचपीसीएल बायोफ्यूएल्स लिमिटेड (एचबीएल), एचपीसीएल की पूर्ण स्वामित्व वाली एक अनुषांगिकी है। कम्पनी 16 अक्टूबर 2009 को इथेनाल के निर्माण में कदम रखने के लिए एक पिछड़े एकीकरण प्रयास के रूप में निगमित हुई थी। एचबीएल की अधिकृत इक्विटी शेयर पूंजी 250 करोड़ रुपये है । 31 मार्च 2017 पर कुल एचबीएल की चुकता इक्विटी पूंजी रुपये 205.52 करोड़ रुपये है।

एचबीएल ने संपूर्ण यंत्र का निर्माण किया है| इसमें प्रति दिन 3,500 टन गन्ना कुचलने की क्षमता है और इथेनॉल बनाने के लिए प्रति दिन (KLPD) 60 किलो लीटर आसवनी प्राप्त होता है| बिहार राज्य में एक पश्चिमी चंपारण जिलों और पूर्व में सुगौली और लौरिया में और कम से 20 मेगावाट के सयंत्र का निर्माण किया है | कंपनी केवल गुड़ से इथेनॉल का निर्माण करने के लिए अपनी सुविधाओं में वृद्धि की है।

वर्ष 2016-17 के दौरान एचबीएल कुल 385.95 करोड़ का रिकार्ड राजस्व अर्जित किया तथा 598 टीएमटी गन्ने की पिराई करके उत्पादन के मोर्चे में सर्वाधिक औसत 9.26 % चीनी की पुर्नुप्राप्ति की। उत्पादन के मोर्चे पर एचबीएल ने 55,333 एमटी चीनी का उत्पादन, 10,101 किलोलीटर इथेनाल का उत्पादन तथा 63.383 मिलियन यूनिट विद्युत उत्पादन प्राप्त किया।

Logo of HRRL एचपीसीएल राजस्थान रिफाइनरी लिमिटेड (एचआरआरएल)

एचपीसीएल राजस्थान रिफाइनरी लिमिटेड (एचआरआरएल), राजस्थान राज्य में 9 एमएमटीपीए क्षमता की ग्रीनफील्ड रिफाइनरी तथा एक पेट्रोकेमिकल कांपलेक्स की स्थापना के लिए 18 सितंबर 2013 निगमित हुई थी। 31 मार्च 2016 को एचआरआरएल की प्राधिकृत शेयर पूंजी 4000 करोड़ थी तथा चुकता शेयर पूंजी 0.05 करोड़ थी। एचपीपीसीएल की एचआरआरएल में 74% की शेयरधारिता है तथा शेष 26% राजस्थान सरकार के पास है।

एचपीसीएल तथा राजस्थान सरकार, ने 18 अपैल 2017 को उक्त रिफाइनरी के निर्माण के लिये संशोधित सहमत मापदंडों के साथ एक संशोधित सहमति ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए थे। लगभग 4675 एकड़ भूमि का चयन कर लिया गया है और परियोजना की शुरुआत के लिए अन्य प्रारंभिक गतिविधियां शुरू होने की अग्रवर्ती स्थिति में है। परियोजना की अनुमानित लागत 43129 करोड़ है।

अस्वीकरण: उपरोक्त लिंक पर क्लिक करने से आप सीधे इन संगठनों की वेबसाइट पर पहुंच जाएगें तथा इन वेबसाइटों पर इन संगठनों तथा हिंदुस्तान पेट्रोलियम कारपोरेशन लिंमिटेड के संदर्भ में दी गयी सूचना तथा व्यक्त किए गये विचार इन वेबसाइटों की सामग्री की सटीकता/विचारों के लिए जिम्मेदार नहीं हैं।